MPLग्वालियर: सोम डिस्टलरी की स्पॉन्सरशिप पर कांग्रेस के सवाल, विवादित कंपनी को स्पॉन्सर बनाने के मामले पर प्रदेश सरकार से मांगा जवाब

ग्वालियर। ग्वालियर में चल रही मध्यप्रदेश प्रीमियर लीग की स्पॉन्सरशिप को लेकर विवाद शुरू हो गया है। कांग्रेस ने बाल श्रम के मामले में गंभीर आरोपों से घिरी शराब कंपनी सोम डिस्टलरी को एमपी प्रीमियर लीग में स्पॉन्सर बनाने पर ज्योतिरादित्य सिंधिया, खेल मंत्रालय और प्रदेश के मुख्यमंत्री से जवाब मांगा है। मप्र कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता अब्बास हफीज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के बेटे महानआर्यमन की लॉन्चिंग के लिए एमपी प्रीमियर लीग को एक लॉन्चपैड की तरह तैयार किया गया। कांग्रेस नेता ने कहा ऐसी विवादित कंपनी को स्पांसर बनाने के मामले पर मप्र सरकार, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और खेल मंत्रालय को जवाब देना चाहिए।
सोम डिस्टलरी की स्पॉन्सरशिप क्यों ली कांग्रेस प्रवक्ता अब्बास हफीज ने कहा- एमपी लीग के नाम से कराई जा रही क्रिकेट प्रतियोगिता सिंधिया जी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। लेकिन, दुखद बात यह है कि प्रदेश में जिस कंपनी के ऊपर गंभीर आरोप लगे हैं उसे इसका मुख्य स्पॉन्सर बनाया गया है। क्या इसी वजह से कार्रवाई नहीं हो रही है? अब्बास हफीज ने पूछा कि आखिर ऐसी कंपनी से स्पॉन्सरशिप क्यों लेनी पड़ी? या उस कंपनी को स्पॉन्सरशिप देने के लिए मजबूर किया गया है। ऐसी कंपनी को उसका स्पॉन्सर बनाया गया है, जो आर्थिक अनियमितताओं, बाल श्रम के मामले में शामिल है। ऐसी कंपनी जिस पर अब तक कार्रवाई हो जानी चाहिए थे उस कंपनी को छोड़ा क्यों गया? अब्बास ने कहा-क्या सिंधिया जी इस पर जवाब देंगे, क्या खेल मंत्रालय से इस पर कोई जवाब आएगा? हम चाहते हैं कि सरकार स्पष्टीकरण दे और वे लोग स्पष्टीकरण दें जिन लोगों ने ऐसा कार्यक्रम बनाया?