अहमदाबाद: नौकरी से गायब रहने वाले कर्मचारी ने पहले खुद को बताया विष्णु अवतार, कहा- ग्रैच्यूटी दो वरना दुनिया में पड़ेगा सूखा

खुद के ‘कल्कि’ अवतार (भगवान विष्णु का अंतिम अवतार) होने का दावा करने वाले गुजरात सरकार के एक पूर्व कर्मचारी रमेशचंद्र फेफर ने मांग की है कि उनकी ग्रैच्यूटी जल्द से जल्द जारी की जाए, अन्यथा वह अपनी ‘दिव्य शक्तियों’ का इस्तेमाल कर इस वर्ष दुनिया में गंभीर सूखा ला देंगे। ‘अवतार’ होने का दावा कर लंबे समय तक कार्यालय से अनुपस्थित रहने के कारण फेफर को सरकारी सेवा से समय से पहले सेवानिवृत्ति दे दी गई थी।

जल संसाधन विभाग के सचिव को एक जुलाई को लिखे पत्र में फेफर ने कहा कि ‘सरकार में बैठे राक्षस’ उनकी ’16 लाख रुपये की ग्रैच्यूटी और एक वर्ष के वेतन के रूप में 16 लाख रुपये और रोककर उनको परेशान कर रहे हैं।

फेफर ने कहा कि उन्हें जो परेशान किया जा रहा है उस कारण वह ‘धरती पर भीषण सूखा’ ला सकते हैं क्योंकि वह भगवान विष्णु के दसवें अवतार हैं जिसने ‘सतयुग’ में शासन किया (हिंदू मत के मुताबिक सच्चाई का युग जब भगवान का शासन था)

फेफर राज्य के जल संसाधन विभाग के सरदार सरोवर पुनर्वास एजेंसी में अधीक्षण अभियंता के तौर पर वडोदरा कार्यालय में पदस्थ थे। आठ महीने में महज 16 दिन कार्यालय आने के लिए उन्हें 2018 में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। जल संसाधन विभाग के सचिव एम के जाधव ने कहा, ‘फेफर कार्यालय आए बगैर वेतन की मांग कर रहे हैं। वह कह रहे हैं कि उन्हें सिर्फ इसलिए वेतन दिया जाना चाहिए कि वह ‘कल्कि’ अवतार हैं और धरती पर वर्षा लाने के लिए काम कर रहे हैं।’

फेफर ने अपने पत्र में यह भी दावा किया कि ‘कल्कि’ अवतार के रूप में धरती पर उनके मौजूद रहने के कारण पिछले दो वर्षों में भारत में अच्छी बारिश हुई है।

9 Replies to “अहमदाबाद: नौकरी से गायब रहने वाले कर्मचारी ने पहले खुद को बताया विष्णु अवतार, कहा- ग्रैच्यूटी दो वरना दुनिया में पड़ेगा सूखा”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *