ग्वालियर: नर्स का आरोप; केंद्रीय मंत्री का रिश्तेदार संबंध बनाने के लिए कर रहा है प्रताडि़त

ग्वालियर। मप्र के ग्वालियर जिले में जयारोग्य अस्पताल के डॉक्टर व केन्द्रीय मंत्री  के भांजा दामाद डॉ. प्रवेश भदौरिया पर महिला नर्स ने मानसिक प्रताड़ता देने का आरोप लगाया है। नर्स का कहना है कि डॉक्टर मुझे शारीरिक संबंध बनाने के लिए प्रताडि़त कर रहे हैं। इसकी शिकायत भी ग्वालियर एसपी ऑफिस में की गई है। इतना ही नहीं जयारोग्य अस्पताल का एक अन्य कर्मचारी कांता प्रसाद भी डॉक्टर के कहने पर प्रताडि़त कर रहा है। पीडि़ता ने कहा है कि उक्त कर्मचारी खुद को पूर्व मंत्री इमरतीदेवी का दामाद भी बताता है। पांच दिन पहले नर्स ने यह शिकायत की थी। नर्स का यह भी आरोप है कि केन्द्रीय मंत्री और पूर्वमंत्री के रिश्तेदार होने के कारण इन पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। जबकि डॉक्टर प्रवेश का कहना है कि मैं उस महिला को जानता तक नहीं हूं। दरअसल दो दिन से सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें जेएएच के गायनिक विभाग में पदस्थ एक महिला नर्स आरोप लगा रही है कि उसे जयरोग्य अस्पताल में पदस्थ एक डॉक्टर और बाबू शारीरिक संबंध बनाने के लिए मानसिक रूप से प्रताडि़त कर रहे हैं। वह लगातार संबंध बनाने के लिए दबाव डाल रहे हैं। महिला ने यह भी कहा है कि वह मामले की शिकायत पुलिस में भी कर चुकी है। उसने पुलिस को बताया है कि डॉक्टर कैंपस में कहीं भी मिल जाते हैं तो कहते हैं कि तुम मेरी बात नहीं मानोगी तो सस्पेंड करा दूंगा। इतना ही नहीं मुझे परेशान करने के लिए जेएएच के बाबू कांता प्रसाद मगरैया को मेरे पीछे लगा दिया है।

 

नर्स ने आरोप लगाया है कि डॉ. प्रवेश सिंह, केन्द्रीय मंत्री  के भांजा दामाद हैं। ऐसे में सभी इनसे डरते हैं। कोई आवाज नहीं उठा रहा है। पर मैं नहीं डरती इसलिए सोशल मीडिया पर भी इस मुद्दे को उठा रही हूं। एडीशनल एसपी शहर दक्षिण हितिका वासल ने बताया कि जेएएच में पदस्थ महिला नर्स ने शारीरिक संबंध बनाने का आरोप डॉ.प्रवेश सिंह भदौरिया और बाबू कांता प्रसाद मगरैया पर लगाया है। मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है। इधर कांग्रेस पार्टी के एक नेता ने कहा है कि मामला केन्द्रीय मंत्री के रिश्तेदार का है तो पुलिस सिर्फ खानापूर्ति कर रही है।

One Reply to “ग्वालियर: नर्स का आरोप; केंद्रीय मंत्री का रिश्तेदार संबंध बनाने के लिए कर रहा है प्रताडि़त”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *