12 साल बाद 5वी और 8वीं की परीक्षाएं बोर्ड पैटर्न पर कराने की राज्य शिक्षा केंद्र ने तैयारी की पूरी

बारह साल के लंबे अंतराल के बाद एक बार फिर से 05वी और 08वीं की परीक्षाएं बोर्ड पैटर्न पर कराने की राज्य शिक्षा केंद्र ने तैयारियां लगभग पूरी कर ली हैं। बोर्ड पैटर्न पर एग्जाम कराने को लेकर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।

आरटीई अधिनियम में संशोधन होने से बोर्ड पैटर्न पर एग्जाम कराने का रास्ता खुल गया है।

शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद 05वी और 08वीं की बोर्ड एग्जाम को खत्म कर दिया गया था।

अधिनियम में किसी भी विद्यार्थी को कक्षा आठवीं तक फेल नहीं करने की बात कही गई थी। बाद में शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाए रखने 2017-18 में अधिनियम में संशोधन किया गया।

अधिनियम में संशोधन कर राज्यों को पांचवी और आठवीं की एग्जाम बोर्ड पैटर्न पर करवाने के अधिकार दिए गए थे।

कक्षा 05 वीं और आठवीं की बोर्ड पैटर्न परीक्षा राज्य शिक्षा केंद्र आयोजित करेगा। क्वेश्चन पेपर राज्य स्तर से सेट किया जाएगा।

कॉपियों की जांच अन्य स्कूलों के शिक्षक से कराई जाएगी। आठवीं तक के बच्चों को सामान्यतः सात मासिक परीक्षाओं सहित अर्द्ध वार्षिक- वार्षिक परीक्षाएं देना होती हैं।

लेट हुए सत्र 2020-21 में अर्धवार्षिक और वार्षिक परीक्षाएं मार्च 2022 में आयोजित कराने तैयारियां की जा रही हैं।

 

Comments are closed.