धनतेरस को युवती ने पति के हाथ-पैर बांधे और प्रेमी ने घोंटा गला, दिवाली को शव ठिकाने लगाते CCTV में कैद

जयपुर : करवा चौथ के 9 दिन बाद धनतेरस को एक पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं, हत्या के बाद लाश को एक कमरे में पटक दिया। 2 दिन बाद बड़ा सूटकेस खरीदा और शव ठूंस दिया। फिर दुकान ले जाकर सूटकेस सहित शव को जला दिया। अधजला शव सुनसान जगह पर फेंक दिया लेकिन सीसीटीवी फुटेज की वजह से पत्नी और प्रेमी की करतूत पकड़ी गई। हत्यारी पत्नी और प्रेमी को जयपुर की करधनी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

चरित्र पर संदेह के कारण होता था झगड़ा, पत्नी ने रास्ते के कांटे बने पति को लगाया ठिकाने
जयपुर के झोटवाड़ा निवासी मंजू राठौड़ अपने प्रेमी पंकज शर्मा के जाल में फंसी हुई थी। वर्ष 2017 में मंजू अपने प्रेमी पंकज शर्मा के साथ माउंट आबू घूमने भी गई। उस दौरान मौज मस्ती की फोटो मंजू के मोबाइल में उसके पति शक्ति सिंह ने देख ली थी।

 जिसे लेकर आए दिन झगड़ा और मारपीट होने लगी। मारपीट और झगड़ों से तंग आकर मंजू ने प्यार के रास्ते में कांटे बने पति को ठिकाने लगाने की योजना बनाई।

धनतेरस की देर रात को मारा, दो दिन तक कमरे में पटका रखा शव
2 नवंबर को धनतेरस की देर रात को मंजू ने पंकज शर्मा को फोन करके बुलाया। आधी रात होने का इंतजार किया ताकि 17 वर्षीय बेटी और 12 वर्षीय बेटा सो जाए। 

बच्चों को गहरी नींद आने के बाद मंजू ने शराब के नशे में सो रहे अपने पति शक्ति सिंह के हाथ पांव दबोच लिए और पंकज शर्मा ने शक्ति सिंह का गला घोट डाला। फिर शव को एक कमरे में पटक दिया।

दिवाली के दिन दोपहर को सुनसान जगह शव फेंकने गए, सीसीटीवी कैमरे में हुए कैद
4 नवंबर को दीपावली के दिन शव को सूटकेस सहित निवारू रोड स्थित कपड़ों की दुकान पर ले जाया गया। सड़े हुए शव की बदबू से बचने के लिए उसमें कपूर डाल दिया और शव को सूटकेस सहित जला दिया। 

अधजले शव को पहले प्लास्टिक के कट्टे में रखा, फिर उस कट्टे को बारदाने के बोरे में भरकर दोपहर 12:30 बजे शव को ठिकाने लगाने के लिए रवाना हुए। मंजू अपनी स्कूटी लेकर रवाना हुई, उसका प्रेमी पंकज पीछे बैठ गया और शव भरे बोरे को दोनों के बीच रख लिया। सुनसान जगह पर पटकने के लिए जाते समय स्कूटी चला रही मंजू का कई बार संतुलन बिगड़ा। इस दौरान वे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए।

9 नवंबर को सड़ा हुआ शव मिला, पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा किया
करधनी थाना प्रभारी बनवारी लाल मीणा ने बताया कि शव अधजला होने के कारण मृतक को पहचानने में काफी परेशानी आ रही थी। घटनास्थल के आसपास सैकड़ों सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। फुटेज में 4 नवंबर को दोपहर को स्कूटी चला रही महिला और उसके पीछे बैठे व्यक्ति के बीच एक बोरा नजर आया। 

तफ्तीश के दौरान यह पता चला कि झोटवाड़ा निवासी शक्ति सिंह शेखावत 7-8 दिन से गायब है। जब शक्ति सिंह के घर जाकर उसकी पत्नी और उसकी स्कूटी को देखा तो वह सीसीटीवी फुटेज से मैच हो गया। पूछताछ में मंजू ने पंकज शर्मा के साथ मिलकर हत्या करने की बात स्वीकार की। इसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

14 Replies to “ धनतेरस को युवती ने पति के हाथ-पैर बांधे और प्रेमी ने घोंटा गला, दिवाली को शव ठिकाने लगाते CCTV में कैद”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *