आर्थिक सहायता के लिए उर्दू पाण्डुलिपियाँ 11 अक्टूबर तक आमंत्रित

भोपाल | मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी संस्कृत परिषद ने वर्ष 2021-22 में उर्दू साहित्यकारों और शायरों को उर्दू पाण्डुलिपियों के प्रकाशन के लिए आर्थिक सहायता देने के लिए पाण्डुलिपियाँ आमंत्रित की हैं।     निदेशक ने बताया कि उर्दू साहित्यकार अपनी पाण्डुलिपि 11 अक्टूबर 2021 तक उर्दू अकादमी के मुल्ला रमूजी संस्कृति भवन में जमा कर सकते हैं।

पांडुलिपियों के साथ मध्यप्रदेश का मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र संलग्न करना आवश्यक है।

 

जिन साहित्यकारों और शायरों की पुस्तकें अकादमी द्वारा प्रकाशित या आर्थिक सहायता दिए हुए 10 वर्ष नहीं हुए हैं उनकी पाण्डुलिपियों पर विचार नहीं किया जायेगा। पुस्तक प्रकाशन की आर्थिक सहायता देने के लिए बनाई गई कमेटी का निर्णय अंतिम माना जायेगा।  

 

अकादमी द्वारा वर्ष 2021-22 में उर्दू के साहित्यकारों और शायरों की उर्दू में प्रकाशित पुस्तकें खरीदी जाना है। इच्छुक साहित्यकार और शायर वर्ष 2020-21 में स्वयं की प्रकाशित पुस्तक की एक प्रति 11 अक्टूबर 2021 तक अकादमी के कार्यालय में जमा करा सकते हैं।

 

जमा की गयी पुस्तक का कोई भुगतान नहीं किया जाएगा और न ही पुस्तक वापस की जायेगी।

One Reply to “आर्थिक सहायता के लिए उर्दू पाण्डुलिपियाँ 11 अक्टूबर तक आमंत्रित”

Comments are closed.